Monday , September 26 2022
Breaking News

औरैया,जमीन बेदखल करने का एक साल बीता ,परवान नही चढ़ सकी परियोजना*

*औरैया,जमीन बेदखल करने का एक साल बीता ,परवान नही चढ़ सकी परियोजना*

*जिले के वरिष्ठ अधिकारियों ने पिछले साल प्लास्टिक सिटी से अवैध कब्जेदारों को किया था बेदखल*

*कंचौसी,औरैया।* जिले मे उधोगो को बढ़ावा देने के लिए बर्षो से प्लास्टिक सिटी की भूमि पर अवैध कब्जेदारों व परियोजना से प्रभावित लखनपुर, उसरारी ,हंषे पूर्वा , कढोरे पुरवा , चमरौआ ,आदि के सैकड़ो किसानो द्वारा तैयार की गई गेंहू की 100 एकड़ फसल को पिछले साल आज के दिन ही तहसील जिला प्रशासन के साथ यूपीडा अधिकारियो द्वारा टैक्टर, बुलडोजर मशीनो द्वारा जोतकर बेदखल करने के बाद आज तक कोई उधोग न लगाने का सपना शासन का पूरा नही हो सका जहा किसी निजी या सरकारी संस्था ने प्लास्टिक या अन्य सामान बनाने का काम शुरू न होने से चारो तरफ साफ किये गये खेतो पक्की सडको पर घास झाडी कटीले बबूल उग आये है जहा सैकड़ो अन्ना मबेशी दिन मे विचरण करने के बाद रात मे आस पास किसानो के खेत चर रहे है, वही दूसरी ओर परिसर के बीच से निकला औरैया कंचौसी मार्ग का दो किलोमीटर हिस्सा गड्ढों मे तब्दील हो गया है। अधिकारियो के लाख कोशिशो के बाद यूपीडा के अधिकारी पिछले एक साल से किसी बाहरी उद्योग पतियों को धरातल पर लाने मे नाकाम रहे है। परियोजना स्थल पर केवल कुछ माह पहले पुलिस चौकी सुरक्षा को ध्यान मे रख चालू की गई , लेकिन फिर भी किसी ने भी दो दर्जन भूखंड आवटंन होने के बाद अपने काम धंधे को फैलाने मे रूचि नही दिखाई है , जिससे इलाके के पिछडे पन का कोई समाधान नही हो सका है , और न भविष्य मे इसमे कोई प्रगति होने की संभावना दिखाई दे रही है। वही आधा सैकडा किसान अभी भी जिला व उच्च न्यायालय मे रिट दायर कर उचित मुआवजा भुगतान की लड़ाई लड रहे है।

रिपोर्टर :-: आकाश उर्फ अक्की भईया फफूंद