Friday , November 25 2022
Breaking News

जनसंपर्क के दौरान बीजेपी नेता को जनता से मिला जवाब ‘साहेब पांच किलो राशन देते हैं और 10 किलो रोज सांड चर जाता है’

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में दूसरे चरण का चुनाव प्रचार शनिवार शाम को खत्म हो जाएगा और पूर्वी उत्तर प्रदेश में विधायक और नेताओं का जनसंपर्क जमकर चल रहा है। जौनपुर जिले की बदलापुर विधानसभा सीट से 2017 में विधायक बने रमेश मिश्रा गद्दोपुर गांव में पहुंचे।

जनता से कहा कि योगी-मोदी सरकार राशन देत बा न। विधायक के बोल फूटते ही जनता से आवाज आई कि साहेब पांच किलो राशन देत हअ, लेकिन 10 किलो त रोज सड़वा, बछुवे, छुट्टा जानवरे चरि लेइ जात हएन सरकार पांच किलो राशन देती है, लेकिन रोज छुट्टा गोवंश 10 किलो अनाज की फसल चर ले जाते हैं)। विधायक चुप!

विधायक दूसरे प्रयास में बोले, रसोई गैस का कनेक्शन पाए हैं? फिर आवाज आयी हां, मिला बा। लेकिन गैसिया का दमवा त बहुतैइ बढ़ाए हअ। कैइसे भराई (कनेक्शन तो मिला है, लेकिन गैस बहुत मंहगी है, कैसे भराएं)? अब विधायक जी को खिसियाहट (खीझते हुए) में कहना पड़ा कि कुछ पैसा रुपया आप भी खर्च करो। योगी-मोदी की सरकार मुफ्त में राशन, पक्का मकान, रसोई गैस का कनेक्शन, किसान सम्मान निधि का पैसा-रुपया, पशु शेड सब दे रही है। सब मुफ्त…मुफ्त ही चाहिए।हर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा के विधायकों को पश्चिमी उत्तर प्रदेश से लेकर पूरब तक इस स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। दूसरा बड़ा सवाल यह भी उठ रहा है कि विधायक पांच साल बाद क्षेत्र में फिर आए हैं।