Monday , October 3 2022
Breaking News

इटावा सही पाल सिंह यादव के करीबी हो रहे हैउनसे बेगाने ,रघुराज शाक्य आज कर स्काई है बी जे पी ज्वाइन

इटावा प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के प्रदेश उपाध्यक्ष और इटावा लोकसभा से दो बार के पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य कल भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो सकते हैं। रघुराज सिंह शाक्य सदर सीट से गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर टिकट के दावेदार थे, लेकिन टिकट ना मिलने से नाराज रघुराज शाक्य फरवरी को लखनऊ में बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं। गौरतलब है कि वे शिवपाल यादव के बेहद करीबी माने जाते हैं। वे इटावा सदर विधानसभा से विधायक भी रहे हैं।

शिवपाल के करीबी हुए शिवपाल से बेगाने

शिवपाल सिंह यादव के करीबी रघुराज सिंह शाक्य और इटावा प्रसपा जिला महासचिव कृष्ण मुरारी गुप्ता माने जाते हैं, लेकिन जानकारों के मुताबिक रघुराज को सदर सीट से टिकट ना मिलने कारण बीजेपी का दामन थामने की बात सामने आ रही है।

फाइल फोटो रघुराज सिंह शाक्य, कृष्ण मुरारी गुप्ता

3 दिन पूर्व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष सुनील यादव ने निजी कार्य में व्यस्त होने का हवाला देते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद प्रसपा कार्यालय पर ताला बंद कर दिया गया था। शहर में जैसे ही इस बात की सूचना सोशल मीडिया से यह चर्चा सामने आई। वैसे ही इटावा शहर में चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। इस सूचना से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की क्षति मानी जा रही है। सदर विधानसभा सीट और जसवंत नगर विधानसभा सीट पर शाक्य वोटों का अच्छा प्रतिशत है।

शिवपाल के अपनों ने की बगावत

इससे पूर्व समाजवादी पार्टी के नेता व पूर्व चेयरमैन नगर पालिका परिषद कुलदीप गुप्ता संटू प्रोफेसर रामगोपाल यादव के बेहद करीबी माने जाते हैं। उन्होंने भी टिकट न मिलने से नाराज होकर सपा छोड़ बसपा का दामन थाम कर सदर सीट पर बसपा के टिकट से दावेदारी ठोंक दी है। वही शनिवार को प्रसपा को एक और झटका लगा है। सदर सीट से बसपा के टिकट के दावेदार बादशाह सिंह राजपूत भी इन्हीं के साथ भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर सकते हैं। लखनऊ से आने के बाद सदर विधानसभा क्षेत्र के कई गांव और शहर क्षेत्र में इनका भव्य स्वागत सम्मान कार्यक्रम भी रखा गया है।

1999 में पहली बार सांसद चुने गए थे रघुराज सिंह शाक्य

रघुराज सिंह शाक्य इटावा लोकसभा से सन् 1999 में पहली बार सांसद चुनकर लोकसभा पहुंचे थे। उसके बाद 2004 में फिर से समाजवादी पार्टी के टिकट से रघुराज सिंह शाक्य सांसद चुने गए। 2012 में रघुराज सिंह शाक्य इटावा सदर सीट पर सपा के टिकट से विधानसभा का चुनाव लड़े और विधानसभा पहुंचे। रघुराज सिंह शाक्य की शहरी क्षेत्र में अच्छी खासी पकड़ मानी जाती है। सपा बसपा गठबंधन होने के बाद रघुराज सिंह शाक्य को टिकट मिलने की पूरी सम्बाभना थी लेकिन इन वक्त पर उनका टिकिट काट दिया गया जिससे उन्हें काफी पीड़ा हुई और इसी को लेकर उन्होंने बी जे का दामन थमने उचित समझा अंदर खेमे से सूत्र बता रहे है कि रघुराज शाक्या आज बी जे पी ज्वाइन कर लेंगे