Thursday , February 22 2024
Breaking News

उल्‍टी, घबराहट, तेज आवाज़ में सर में झनझनाहट होना नहीं हैं किसी आम बीमारी के लक्ष्ण…

माइग्रेन  एक ऐसी समस्‍या है जो इंसान के खान पान रहने के तरीके से ट्रिगर करता है. दरअसल हम जो खाते हैं उसका असर हमारे शरीर पर सीधा असर पड़ता है. माइग्रेन दरअसल एक तरह का सिरदर्द है जिसमें उल्‍टी, घबराहट, तेज आवाज़ में सर में झनझनाहट होती है.

कई बार ये दर्द इतना बढ़ जाता है कि यह बर्दाश्‍त से बाहर हो जाता है. यह दर्द पहले 35 से 40 साल की उम्र के लोगों में तेजी से बढ़ता था लाइफस्टाइल में यह 20 से 26 साल के युवाओं में भी देखने को मिलता है.

1.कैफीन वाले ड्रिंक्स

कुछ हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार कैफीन माइग्रेन अटैक को रोकने में मदद कर सकता है. लेकिन अगर आप ज्यादा कैफीन लेते हैं तो ये माइग्रेन के दर्द को बढ़ाता है. जैसे चाय, कॉफ़ी को ज्यादा पीना माइग्रेन के दर्द को ट्रिगर क्र सकती है.

2.चॉकलेट

चॉकलेट में कैफीन बीटा-फेनिलथाइलामाइन दोनों ही ज्यादा मात्रा में पाया जाता है जो सिरदर्द की परेशानी को बढ़ा सकते हैं. ज्यादै मात्रा में डार्क चॉक्लेट खाने से भी दर्द ट्रिगर हो सकता है.

3.मीट

मीट, हैम, हॉट डॉग सॉसेज आदि खाद्य पदार्थों में नाइट्रेट्स नामक तत्‍व होते हैं जो रंग स्वाद को बढाने का काम करते हैं. ये सारे फूड्स दिमाग की नसों में बहने वाला खून पतला करते हैं जिससे माइग्रेन का दर्द ट्रिगर होता है.