Friday , May 24 2024
Breaking News

बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ ने ए.आर.एम.सी आई.वी.एफ फर्टिलिटी चेन का किया अधिग्रहण

बिरला ग्रुप की 500 करोड़ रु से अधिक निवेश के साथ 100+ नए सेंटर्स बनाने की योजना

रिपोर्ट  : आकाश यादव

लखनऊ : सी.के.बिरला ग्रुप(2.9 बिलियन डॉलर) की कंपनी और भारत के अग्रणी आई.वी.एफ (IVF) नेटवर्क बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ ने ए.आर.एम.सी आई.वी.एफ फर्टिलिटी चेन का अधिग्रहण किया है। बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ के फिलहाल देशभर में 30 सेंटर्स है और मौजूदा अधिग्रहण के बाद इसका विस्तार दक्षिण भारत में केरल, कर्नाटक एवं तमिलनाडु में हो जाएगा। अधिग्रहण के बाद, बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ के कुल 37 सेंटर्स हो जाएंगे।


इस अधिग्रहण के साथ, बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ देश में फर्टिलिटी समाधान ढ़ूंढ़ रहे दंपत्तियों के लिए अग्रणी और भरोसेमंद पार्टनर के तौर पर अपनी पहचान को और मजबूत करेंगे।


सी.के.बिरला ग्रुप देशभर में 50 वर्षों से उच्चस्तरीय स्वास्थ सेवा प्रदान करने के लिए जाना जाता है। बिरला ग्रुप के अस्पताल कोलकाता, जयपुर, गुरुग्राम और दिल्ली में हैं जो अत्याधुनिक मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर एवं टैक्नोलॉजी से लैस हैं। बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ भारत की सबसे तेजी से बढ़ता हआ ब्रैंड है जो श्रेष्ठ सेवा व सर्वश्रेष्ठ परिणाम के लिए जाना जाता है ।


ब्रैंड ने अपनी गहन मेडिकल रिसर्च तथा इनोवेशन क्षमताओं से इंडस्ट्री में अव्वल आईवीएफ सफलता दर तथा शानदार सेवा अनुभव प्रदान करने की प्रतिष्ठा प्राप्त की है।


ए.आर.एम.सी आई.वी.एफ की स्थापना 2009 में जाने माने IVF एक्सपर्ट डॉ के.यू. कुंजीमोइद्दीन ने की थी और तभी से यह दक्षिण भारत में उन्नत एवं संपूर्ण फर्टिलिटी उपचार उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध रहे हैं।
इस मौके पर, अवंति बिरला, संस्थापक, बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ, सी.के.बिरला हैल्थकेयर ने कहा, “बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ में, हम ‘श्रेष्ठ सेवा, सर्वश्रेष्ठ परिणाम’ के सिद्धांत का पालन करते हुए, गर्भधारण के विज्ञान के साथ केयर (देखभाल) का मेल कराते हैं। हम दंपत्तियों की जरूरतों को ध्यान में रखकर, फर्टिलिटी स्पेश्यलिस्ट, एंड्रोलॉजिस्ट व काउंसलर की सेवाएं एक छत के नीचे प्रदान करते हैं। हमने अच्छी फर्टिलिटी हैल्थ को बढ़ावा देने के लिए समग्र दृष्टिकोण अपनाया है और लोगों के साथ अनेक विषयों – फर्टिलिटी प्रीज़वेर्शन, जिसमें कैंसर मरीजों के लिए ओवेरियन टिश्यू फ्रीज़िंग की सुविधा भी उपलब्ध करायी है। ए.आर.एम.सी आईवीएफ और इसके फाउंडर तथा मेडिकल डायरेक्टर डॉ. के.यू. कुंजीमोइद्दीन ने दक्षिण में सर्वोच्च फर्टिलिटी केयर उपलब्ध करायी है। ए.आर.एम.सी आईवीएफ के साथ पार्टनरशिप से हम अपनी इसी वचनबद्धता को आगे भी जारी रखेंगे।”


इस महत्वपूर्ण घटनाक्रम के बारे में, अक्षत सेठ, वाइस चेयरमैन, सी.के. बिरला हैल्थकेयर ने कहा, “इस अधिग्रहण के साथ, बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ ने रिप्रोडक्टिव उपचार सुविधाएं प्रदान करने वाले भरोसेमंद संस्थान के रूप में अपनी पहचान को और मजबूत बनाया है। हम भविष्य में भी फर्टिलिटी सेवाओं के बारे में जरूरतमंद दंपत्तियों के लिए जागरूकता बढ़ाने पर जोर देंगे। ए.आर.एम.सी आईवीएफ के साथ हमारी पार्टनरशिप दक्षिण भारत में विस्तार करने में मददगार साबित होगी। हम देश में अग्रणी फर्टिलिटी एवं आईवीएफ संस्थान बनने के लिए प्रतिबद्ध हैं। ए.आर.एम.सी के रूप में हमें ऐसा पार्टनर मिला है जिनका केयर मॉडल बिल्कुल हमसे मेल खाता है। हम ए.आर.एम.सी एवं उनके डॉक्टरों की टीम का अपने परिवार एवं नेटवर्क में स्वागत करते हैं।”
इस अवसर पर, अभिषेक अग्रवाल, चीफ बिजनेस ऑफिसर, बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ, ने कहा, “हम अपनी विश्वस्तरीय तकनीक, अत्याधुनिक उपकरणों और शानदार परिणामों का लाभ उठाते हुए उन्नत रिप्रोडक्टिव देखभाल तथा अत्याधुनिक फर्टिलिटी उपचार दक्षिण भारत में भी उपलब्ध कराते रहेंगे। आईवीएफ के साथ-साथ हम गाइनीकोलॉजिकल प्रक्रियाओं, पुरुष नि:संतानता उपचार, लैपरोस्कोपिक प्रक्रियाओं, आनुवंशिक जांच, डायग्नॉस्टिक्स एवं डोनर सेवाएं भी प्रदान करेंगे।”अधिग्रहण के बाद भी डॉ के.यू. कुंजीमोइद्दीन के नेतृत्व में डॉक्टरों समेत मौजूदा टीम इन सेंटर्स का संचालन बिरला फर्टिलिटी एंड आईवीएफ के साथ मिलकर जारी रखेगी।


भारत में करीब 28 मिलियन कपल्स ऐसे हैं जो फर्टिलिटी समस्याओं से जूझ रहे हैं लेकिन डॉक्टरी सलाह 1% से भी कम लोग लेते हैं। इस बारे में जागरूकता बढ़ाकर देशभर में विश्वसनीय इलाज और बेहतर क्लीनिकल परिणामों से फर्टिलिटी के भविष्य को बदला जा सकेगा।