Wednesday , February 28 2024
Breaking News

राजस्व वादों के निस्तारण में स्वीकार नहीं ‘तारीख पर तारीख’ का रवैया: मुख्यमंत्री


उच्चाधिकारियों को मुख्यमंत्री की दो टूक, फील्ड में तैनाती मेरिट पर हो, दबाव/सिफारिश मानना कॅरियर से खिलवाड़ करने जैसा

राजस्व वादों के निस्तारण में देरी पर डीएम/मंडलायुक्त पर भी तय होगी जवाबदेही

धर्मस्थलों/शोभायात्राओं में अश्लील गीत, कानफोड़ू डीजे बजा तो पुलिस कप्तान की तय होगी जवाबदेही: मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री का आदेश, इजराइल-फिलिस्तीन मामले में बयान से उन्माद फैलाने वालों के खिलाफ करें कठोर कार्रवाई

मुख्यमंत्री योगी का प्रदेश की जनता से आह्वान, मनाएं प्लास्टिक फ्री त्योहार

महिला सुरक्षा सबसे संवेदनशील विषय,मिशन शक्ति के लिए मिशन मोड में योगी सरकार

त्योहारों पर लोकल फाल्ट/रोस्टरिंग के नाम पर न हो अनावश्यक कटौती, हर गांव-शहर को मिले पूरी बिजली: मुख्यमंत्री

जिलाधिकारी/पुलिस कप्तानों के साथ बैठक में मुख्यमंत्री ने जारी किया तहसीलों, सर्किलों, थाना और जनपद वार रिपोर्ट

आईजीआरएस/अपराध नियंत्रण में खराब प्रदर्शन करने वाले जिलों/थानों/सर्किल को मुख्यमंत्री की चेतावनी, प्रदर्शन सुधारें या छोड़ दें फील्ड की तैनाती

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की त्योहारों के सौहार्दपूर्ण आयोजन की तैयारियों की समीक्षा, मिशन शक्ति के सफल क्रियान्वयन के लिए दिए दिशा-निर्देश

14 अक्टूबर से प्रारंभ हो रहा मिशन शक्ति का चौथा चरण, हर ग्राम/हर वार्ड में होंगे कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ने की विभागवार तैयारियों की समीक्षा

त्योहारों में होंगे सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, मुख्यमंत्री का निर्देश, बीट सिपाही-हल्का इंचार्ज से लेकर वरिष्ठ अधिकारी सड़कों पर उतरे, आम जन को हो सुरक्षा का अहसास

वरासत, नामांतरण, पारिवारिक बंटवारा, पैमाइश से जुड़े मामलों के निस्तारण की मुख्यमंत्री ने जारी की तहसीलवार रिपोर्ट, कहा, इन मामलों में न हो देरी, तत्काल हो समाधान

मीरजापुर, बलरामपुर, सीतापुर और सहारनपुर के जिलाधिकारियों से दुर्गा पूजन में श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए हो रही तैयारियों की मुख्यमंत्री ने ली रिपोर्ट

रिपोर्ट : आकाश यादव

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नामांतरण, वरासत, पारिवारिक बंटवारे, पैमाइश जैसे आमजन से जुड़े राजस्व वादों के निस्तारण में अनावश्यक लेटलतीफी पर कड़ी नाराजगी जताई है। इस संबंध में तहसीलवार प्रदर्शन रिपोर्ट जारी करते हुए उन्होंने कहा है कि राजस्व वादों में ‘तारीख पर तारीख’ की प्रवृत्ति कतई स्वीकार नहीं की जा सकती। ऐसा करने वाले लेखपाल, राजस्व निरीक्षक आदि राजस्व कर्मियों के विरुद्ध तो कार्रवाई होगी ही, आवश्यकतानुसार मंडलायुक्त और जिलाधिकारी की भी जवाबदेही तय होगी।

गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों/पुलिस कप्तानों से संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि फील्ड में तैनाती जनसेवा का सबसे अच्छा अवसर होता है। यहां हर एक तैनाती मेरिट के आधार पर ही होनी चाहिए। यदि कहीं भी सिफारिश अथवा किसी के दबाव में किसी की फील्ड पोस्टिंग की गई है तो ऐसा करना संबंधित अधिकारी के लिए अपने कॅरियर से खिलवाड़ करने जैसा है। ऐसे हर प्रकरण को गंभीरता से लिया जाएगा। हाल के दिनों में जनता दर्शन में प्राप्त आवेदकों के बारे में जानकारी देते हुए और आइजीआरएस में प्रदर्शन की रिपोर्ट जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी जनता के लिए तैनात हैं, जनता से मिलना और उनकी समस्याओं का निस्तारण शीर्ष प्राथमिकता होनी चाहिए। फील्ड में तैनात जो अधिकारी-कर्मचारी ऐसा कर पाने में सक्षम न हो उसे तत्काल फील्ड की तैनाती छोड़ देनी चाहिए।

आगामी दिनों में शारदीय नवरात्र, दुर्गा पूजा, विजयादशमी, दशहरा, दीपावली, छठ आदि पर्व त्योहारों को हर्ष, उल्लास और सौहार्द के साथ मनाए जाने के लिए सभी पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बीट सिपाही से लेकर हल्का इंचार्ज और पुलिस कप्तान सहित हर अधिकारी सड़क पर उतरे। त्योहार के दिनों में कुछ अराजक तत्व माहौल बिगाड़ने की कोशिश कर सकते हैं। ऐसे में पुलिस को अलर्ट रहना होगा। आम आदमी को उसकी सुनिश्चित सुरक्षा के लिए पूरा भरोसा दिलाना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि विगत वर्षों में नियोजित प्रयासों से धर्मस्थलों पर अनावश्यक लगे लाउडस्पीकर उतारे गए थे, किंतु कतिपय क्षेत्रों से इनके पुनः लगने की सूचना मिल रही है। इसी तरह, त्योहार में अश्लील गीतों और कानफोड़ू डीजे संगीत से भी आम आदमी को समस्या होती है। ऐसी किसी भी गतिविधि को अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइ का उल्लंघन कर होने वाली ऐसी गतिविधियों पर सम्बंधित पुलिस कप्तान की जवाबदेही तय की जाएगी। बैठक में मुख्यमंत्री जी ने बलरामपुर, सहारनपुर, सीतापुर और मीरजापुर जैसे शक्तिपीठ वाले जनपदों में नवरात्र मेले की तैयारियों के संबंध में जिलाधिकारियों से रिपोर्ट ली और श्रद्धालुओं के हित में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि त्योहारों पर हर गांव-नगर को पर्याप्त बिजली मिलनी चाहिए। लोकल फाल्ट/रोस्टरिंग के नाम पर अनावश्यक कटौती न हो। वहीं दुर्गापंडालों में फायर सेफ्टी के निर्देश देते हुए उन्होंने पटाखों की दुकानों को आबादी से दूर लगाए जाने और इन दुकानों के लाइसेंस निर्गत करने में देर न करने के निर्देश भी दिए।

मुख्यमंत्री ने महिला सुरक्षा को सरकार की शीर्ष प्राथमिकता बताते हुए कहा कि आगामी 14 अक्टूबर से मिशन शक्ति का चौथा चरण प्रारंभ हो रहा है। अभियान के लिए हर विभाग की कार्ययोजना पूर्व से ही तय है, तदनुसार हर विभाग अपनी कार्यवाही सुनिश्चित कराये। मुख्यमंत्री ने कहा कि मिशन शक्ति के विशेष अभियान (फेज-04) के दौरान प्रदेश भर के बेसिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग के विद्यार्थियों को साथ में जोड़ते हुए उनके द्वारा जनजागरूकता की प्रभात फेरियाँ निकाली जाएँ। जन जागरुकता अभियान के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम का इस्तेमाल किया जाए। मिशन शक्ति अभियान से जुड़े सभी विभागों द्वारा आगामी 14 और 15 अक्टूबर को जनजागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित की जाए। 16 अक्टूबर से मिशन शक्ति से सम्बन्धित समस्त विभाग गृह / बेसिक शिक्षा / माध्यमिक शिक्षा / उच्च शिक्षा / चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण / ग्राम्य विकास / पंचायती राज / नगर विकास / युवा कल्याण / राजस्व / संस्कृति एवं महिला कल्याण विभाग द्वारा निर्धारित विभागीय कार्य योजना के अनुरूप कार्यक्रम सम्पादित किये जाएँ। अभियान के अन्तर्गत प्रत्येक स्तर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में अधिक से अधिक जन सहभागिता सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत प्रत्येक ग्राम पंचायत व वार्ड में सप्ताह में एक दिन कार्यक्रम आयोजित किया जाए, जिसमें वीट पुलिस अधिकारी, आंगनवाड़ी कार्यकत्री, बीसी सखी, लेखपाल, एएनएम, आशा वर्कर, ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी, रोजगार सेवक आदि की निर्धारित दिन को उनकी उपस्थिति उस ग्राम/न्याय पंचायत व वार्ड में सुनिश्चित की जाये। आयोजन में ग्राम प्रधानों/ सभासदों से भी समन्वय कर आवश्यक सहयोग लिया जाये। प्रत्येक सप्ताह आयोजित होने वाले इन कार्यक्रमों में लोगों को शासन की कल्याणकारी योजनाओं से अवगत कराते हुए योजनाओं का लाभ प्राप्त करने में आ रही समस्याओं का निराकरण कर कार्य को आगे बढ़ाया जाए। कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं से आवेदन प्राप्त कर उनका पंजीयन करते हुए उन्हें कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ा जाए। महिला सशक्तिकरण जन जागरण के ये कार्यक्रम प्रदेश के समस्त 14,000 वार्ड व 57,705 ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित किये जाएंगे। इन कार्यक्रमों में निम्नानुसार महिला सुरक्षा, महिला केन्द्रित विभिन्न सरकारी योजनाओं व हेल्पलाइन / फोरम के सम्बन्ध में जानकारी प्रदान करते हुए मौके पर समस्याओं का निस्तारण भी किया जाए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री ने हाल के दिनों वैश्विक स्तर पर चल रहे इजरायल-फिलिस्तीन विवाद का भी जिक्र किया। पुलिस अधिकारियों को सतर्क करते हुए उन्होंने कहा कि सभी पुलिस कप्तान अपने क्षेत्र में धर्मगुरुओं से तत्काल संवाद करें। इस प्रकरण में भारत सरकार के विचारों के विपरीत किसी तरह की गतिविधि स्वीकार नहीं की जाएगी। सोशल मीडिया हो अथवा धर्मस्थल कहीं से भी किसी भी प्रकार का उन्मादी बयान/वक्तव्य जारी न हो। यदि किसी के द्वारा ऐसा करने का कुत्सित प्रयास हो, तो तत्परता के साथ उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाए।