Saturday , February 24 2024
Breaking News

शराबी सफाई कर्मचारी ने छुट्टी के दिन ब्लाक के गेट पर लगाई फांसी मची हलचल

मृतक राजू की फाइल फ़ोटो

रिपोर्ट : संजय साहू

चित्रकूट : चित्रकूट के कर्वी कोतवाली थाना अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग झांसी मिर्जापुर 35 के किनारे विकास खण्ड ब्लाक में उस वक्त हड़कंप मच गया जब 45 साल का सफाई कर्मचारी खण्ड विकास अधिकारी आस्था पाण्डेय के ठीक कार्यालय के सामने सुबह साढ़े ग्यारह बजे बाहर के गेट पर अपनी साफी का फंदा बना संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगा ली, मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और जांच पड़ताल में जुट गई।

ब्लाक गेट पर फांसी पर झूलता राजू

गौरतलब है कि राजू पुत्र सुन्दरलाल निवासी कर्वी काफी लंबे समय से कर्वी कोतवाली के डाक बंगले में अपने परिवार के आठ लोगों के साथ रहता था और मौजूदा समय मे कर्वी विकास खण्ड के डिलौरा गांव में सफाई कमर्चारी के पद पर तैनात था, राजू की शादी 1995 में प्रयागराज के बर्रा थाने के करैला नाला इलाके में हुई थी लगभग 15 साल तक सब ठीक चलता रहा कि किसी कारण वश राजू की उसकी पहली पत्नी से तलाक हो गया और वह अकेला हो रहने लगा, राजू के बड़े भाई की बहू सुमित्रा ने बताया कि वो मेरी सास के साथ रहने लगे थे क्योंकि हमारी सास के पति का पहले ही देहांत हो चुका था, और वही पूरे परिवार का पालन पोषण करते थे पहले उनके पास नौकरी नही थी क्योंकि वो कुल पांच तक ही पढ़े थे, 2009 में उनको सफाई कर्मचारी की नौकरी मिली तो उम्मीद जगी की सब ठीक हो जाएगा और परिवार की स्थिति भी सुधर जाएगी लेकिन चाचा राजू की दिमागी हालात ठीक नही रहती थी और शराब के आदि भी हो गए थे, कई बार वो कहते थे कि मेरा वेतन मुझे नही मिल रहा और सब अधिकारी मुझे परेशान कर रहे हैं वो काम मे भी कम जाते थे इसी वजह से उनका विभाग उनको वेतन भी नही देता था लेकिन कभि – कभि वेतन मिल जाता था तो परिवार चलता रहता था।

विज्ञापन



ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष महेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि आज यह सुबह विकास भवन भी गया था और वहां यह उल्टा सीधा बोल रहा था इसको नही पता था कि आज छुट्टी है यह काम पर नही जाता था क्योंकि इसकी दिमाकी हालात ठीक नही रहती थी फिर भी जब जाता था तो इसका वेतन इसको दिया जाता था पिछले माह भी इसको वेतन दिया गया था, और आज पता नही क्या अचानक हुवा की इसने ब्लाक के गेट पर फांसी लगा ली ।

पोस्टमार्टम हॉउस में बैठी राजू की माँ बहु और भतीजे


खण्ड विकास अधिकारी आस्था पाण्डेय का कहना है कि यह आय दिन ब्लाक में शराब के नशे में गाली गलौज करने आता था कई बार यह काम मे भी नही जाता था फिर भी कई बार इसको वेतन दिया गया, एक बार मैंने डीपीआरओ से यह कहा था कि इसको मेरे ब्लाक से कहीं और स्थान्तरित कर दें लेकिन नही हुवा फिर मैंने भी दोबारा ध्यान नही दिया, आज उसने दोपहर लगभग साढ़े ग्यारह बजे ब्लाक परिसर के गेट पर अपनी ही साफी से फंदा लगा फांसी लगा ली जिसका फांसी लगाने वाला वीडियो भी ब्लाक परिसर के कैमरे में कैद है।