Thursday , February 22 2024
Breaking News

दस बन्द क्रेशरों में से तीन में चल रही चोरी से बिजली


राजेन्द्र शर्मा, संगम और केजीएन स्टोन मिल में विजली चोरी पर कार्यवाही

Report : Sanjay Sahu, Chitrakoot


चित्रकूट : अभिलेखों में बंद चल रही क्रशरों में बिजली चोरी की सूचना पर दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड आगरा की टीम ने छापा मारा। इसमें तीन जगहों पर चोरी से बिजली का उपभोग पाए जाने पर इनके संचालकों के खिलाफ विद्युत विभाग के एंटी पावर थेप्ट थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। इसके साथ ही संबंधित क्षेत्र के बिजली अधिकारियों व कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी की गई है।



गौरतलब है कि एनजीटी के निर्देश पर भरतकूप में कई क्रशरों के संचालन पर रोक लगाई गई है। इसके बाद भी कई क्रशरों के चोरी छिपे संचालन की आएदिन खबरें आती हैं। रविवार को इस संबंध में आगरा की टीम ने भरतकूप में कई क्रशरो में छापा मारा। टीम में आगरा के एसी रेड्स एजाज अहमद, एसी बांदा वर्क्स अरविंद कुमार के साथ एसी चित्रकूट ब्रजेश कुमार शामिल रहे।

अधीक्षण अभियंता चित्रकूट ने बताया कि टीम ने संगम क्रशर स्टोन मिल, राजेंद्र कुमार शर्मा क्रशर और केजीएन क्रशर के अलावा हजरत निजामुद्दीन क्रशर स्टोन मिल में छापेमारी की। उन्होंने बताया कि संगम क्रशर, शर्मा क्रशर और केजीएन में कटिया से बिजली का उपभोग पाए जाने पर इनके संचालकों के खिलाफ बिजली चोरी संबंधी विभागीय थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है। उन्होंने यह भी बताया कि इन क्रशरों में जनरेटर तो थे पर ये बंद थे और धूल जमी थी, जिससे साफ था कि ये लंबे अरसे से उपयोग में नहीं लाए गए। इसके अलावा हजरत निजामुद्दीन क्रशर में जनरेटर चल रहा था।



उन्होंने बताया कि भरतकूप क्षेत्र के एसडीओ विमलेश कुमार, जेई दीपक कुमार सहित छह लोगों को कारण बताओ नोटिस जारी की गई है। इनके संतोषजनक जवाब न मिले तो आगे की कार्रवाई की जाएगी। उधर, इस संबंध में खनिज अधिकारी सुधाकर सिंह ने बताया कि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की शिकायत पर बिजली विभाग की टीम ने छापेमारी की थी। इसमें विभाग का कोई रोल नहीं होता।

उन्होंने बताया कि एनजीटी के निर्देश पर बीस क्रशरों के संचालन पर रोक लगाई गई थी। इनमें से दस लाइसेंसों का नवीकरण कराकर चालू हो गए हैं। बताया कि जिन क्रशरों पर छापेमारी की गई थी, उनका नाम बंद क्रशरों में था। इनके संचालकों को नोटिस जारी कर पूछा जाएगा कि किस आधार पर इन्होंने क्रशरों का संचालन किया।