Friday , September 30 2022
Breaking News

ऊर्जा मंत्री ने सपा के कार्यों पर तंज किया – गरजते थे आजमगढ़ में और बरसते थे इटावा में !


ऊर्जा मंत्री ने विधान सभा में प्रदेश की बिजली व्यवस्था की वास्तविकता प्रस्तुत कर विपक्ष के दावों को नकारा – ऊर्जा मंत्री

विपक्ष के लोग बिजली के बारे में दुष्प्रचार कर रहे – ऊर्जा मंत्री

पिछली सरकार के दरम्यान जितनी बिजली की पीक डिमांड थी, उतनी आज हमारी सबसे कम डिमांड – ऊर्जा मंत्री

वर्ष 2012 से 2017 के दौरान की अपेक्षा प्रदेश में इस समय 1.5 से 2.0 गुना बिजली आपूर्ति हो रही है – ऊर्जा मंत्री

सपा सरकार में बिजली का सबसे बड़ा प्राविडेण्ट फण्ड घोटाला हुआ, दोषी अधिकारियों के तार मुख्यमंत्री कार्यालय से जुड़े मिले, जिन्हें योगी सरकार ने जेल भेजा – ऊर्जा मंत्री

इस महीने की 15 तारीख को अब तक की सर्वाधिक बिजली आपूर्ति 25,934 मेगावाट की गयी – ऊर्जा मंत्री

सरकार 24 घण्टे बिजली देने के लिये संकल्पित है और इसके लिये सब स्टेशन, फीडर, ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि की जा रही – ऊर्जा मंत्री


लखनऊ : प्रदेश के ऊर्जा मंत्री ए.के.शर्मा ने कल विधान सभा में प्रदेश की बिजली व्यवस्था की वास्तविकता प्रस्तुत कर विपक्ष के दावों को नकार दिया। उन्होंने कहा कि बिजली की आपूर्ति के विषय में विपक्ष के लोग दुष्प्रचार कर रहे हैं और झूठा आँकङा दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि वास्तविकता यह है कि सपा सरकार के शासन काल के दरम्यान जितनी बिजली की पीक डिमांड 13000 से 14000 मेगावाट होती थी, उतनी आज हमारी सबसे कम डिमांड है।
ऊर्जा मंत्री ए.के.शर्मा ने कहा कि प्रदेश की सपा सरकार में कुछ ही जिलों और गांव में 24 घण्टे बिजली आती थी, बाकी जगहों पर 10 से 12 घण्टें का रोस्टर था। जबकि आज पूरे प्रदेश में तय रोस्टर के अनुसार बिजली आ रही है। उन्हांेने कहा कि वर्ष 2012 से 2017 की तुलना में इस समय 1.5 से 2.0 गुना बिजली आपूर्ति हो रही है। इसी प्रकार 33/11 के.वी. सब स्टेशन की संख्या 3817 थी उसे बढ़ाकर 4522 कर दी गयी है और पहले की अपेक्षा 705 सब स्टेशन ज्यादा बनाए गए। 1413 सब स्टेशन की क्षमता वृद्धि की गयी।
इसी प्रकार सपा सरकार के दौरान बिजली विभाग में सबसे बड़ा प्राविडेण्ट फण्ड घोटाला भी हुआ और दोषी अधिकारियों के तार मुख्यमंत्री कार्यालय से जुड़े मिले, जिन्हें योगी सरकार में जेल जाना पड़ा।
ऊर्जा मंत्री ने कहा कि इसी प्रकार सपा से आजमगढ़ जनपद के जनप्रतिनिधियों में मुख्यमंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री, सांसद और विधायक रहे, फिर भी वहां का विकास नहीं हो पाया। इस पर उन्होंने कहा कि ये ऐसे लोग हैं, जो गरजते थे आजमगढ़ में, बरसते थे इटावा में। ऐसी इनकी कार्य संस्कृति रही है।
उन्होंने कहा कि सपा सरकार के अधूरे कार्यों को योगी सरकार द्वारा पूरा किया गया, जिसमें १.२१ लाख मजरों तथा १.४३ करोड़ नए घरों का विद्युतीकरण, जो कि विगत सरकार के कार्यों से २०० प्रतिशत ज्यादा है। प्रतिवर्ष जितने घरों का विद्युतीकरण सपा सरकार में हुआ उसका दो गुना काम योगी सरकार मंे हुआ। सपा सरकार में १५०० किमी. लाइन हर साल बिछाई गयी। वहीं योगी सरकार में ३५०० किमी. प्रतिवर्ष यानी की दोगुनी बिछाई गयी। सपा सरकार में उनके पालतू गुंडे और माफिया बिजली चोरी करते थे इसीलिए लाइनलॉस 40 प्रतिशत था। अब हम इसको 28-29 पर लाए हैं। अब हम ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही कर रहे हैं।
ऊर्जा मंत्री ने बताया कि इस महीने की 15 तारीख को अब तक की सर्वाधिक बिजली आपूर्ति 25,934 मेगावाट की गयी। जिससे कि उपभोक्ताओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो, उन्होंने कहा कि विपक्ष का यह आरोप कि उपभोक्ताओं को परेशान किया जा रहा है और उनकी बिजली काटी जा रही है यह पूणर्तयाः झूठा और निराधार है। प्रदेश सरकार अनुचित कार्य व बिजली चोरी करने वाले तथा माफियाओं के खिलाफ भी कार्यवाही कर रही है।
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने छोटे-छोटे गांव, मजरों, मोहल्लों तक भी बिजली पहुंचाने का कार्य किया है और इससे सुदूर गांव में रहने वाले गरीबों को फायदा हुआ। प्रदेश सरकार 24 घण्टे बिजली देने के लिये संकल्पित है और इसके लिये सब स्टेशन, फीडर, ट्रांसफार्मर की क्षमता वृद्धि के साथ झूलते व लटकते हुये तारों को ठीक किया जा रहा है और आने वाले समय पर प्रदेश के लोगों को बेहतर विद्युत आपूर्ति मिलेगी इसका मैं आश्वासन देता हूँ। ऊर्जा मंत्री ने उपभोक्ताओं की समस्याओं का त्वरित समाधान करने के लिए और बिजली की सुचारू व्यवस्था के लिए प्रदेश स्तरीय जन सुनवाई की व्यवस्था की है।