Tuesday , May 17 2022
Breaking News

इटावा सासंद डॉ. रामशंकर कठेरिया ने कहा कि किसी को गाली-गलौज करने का अधिकार नहीं है। सबका अपना सम्मान होता है।

इटावा में सासंद डॉ. रामशंकर कठेरिया ने कहा कि किसी को गाली-गलौज करने का अधिकार नहीं है। सबका अपना सम्मान होता है। मेरे और पार्टी के सभी के संज्ञान में है। इसकी जांच हो रही है और एक्शन भी लिया जाएगा। सांसद ने कहा इस मामले को बारीकी से देखना पड़ेगा क्योंकि विपक्ष के लोग भी इस मुद्दे को हवा दे रहें हैं।

दरअसल, बीते दिनों औरैया में भाजपा नेता व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष दीपू सिंह के बेटे को थाने में बैठाने पर भाजपा नेता अपना आपा खो बैठे थे। उन्होंने सीओ के सामने कोतवाल को धमकियां देते हुए गाली गलौज की थी। बताया जाता है कि मामला रंगदारी मांगने का था। जिसके बाद ये पूरा विवाद हुआ।

विवाद जातीय संघर्ष में बदल गया। पुलिस ने रंगदारी मांगने के आरोप में 5 नामजद और 60 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस के साथ अभद्रता के मामले में दीपू सिंह और उनके बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही अन्य नेताओं पर पुलिस मुकदमा दर्ज करने की तैयारी में जुटी हुई है।

साथियों को छुड़ाना भाजपा नेता पड़ा महंगा

जिला पंचायत सदस्य कर्मवीर सिंह ने अपने साथियों को छोड़ने की सिफारिश की थी। जिसपर कोतवाल सन्तोष अवस्थी ने उसे भी थाने में बैठा लिया था और उनके पिता दीपू सिंह कोतवाल को थाने में जातीय शब्दों का प्रयोग करते हुए गाली गलौज अभद्रता करते हुए थाने में हाई वोल्टेज ड्रामा किया था जिसका किसी ने वीडियो बनाकर वायरल कर दिया था।

वीडियो वायरल होने के बाद औरैया जनपद में विशेष जाति के लोग संगठित हुए और कार्यवाही की मांग करने लगे। इस वीडियो में इटावा लोकसभा सासंद डॉ. रामशंकर कठेरिया को आरोपी दीपू सिंह फोन लगाने की बात कहता सुनाई दे रहा है।