Wednesday , May 18 2022
Breaking News

विराट कोहली से लेकर शिखर धवन तक अंडर-19 वर्ल्ड कप ने बदल दी इन खिलाडियों की जिंदगी

अंडर-19 वर्ल्ड कप की सबसे सफल भारतीय टीम कप्तान यश धुल की अगुआई में शनिवार को इंग्लैंड के खिलाफ फाइनल में खिताबी ‘पंच’ लगाने के लिए उतरेगी। भारत ने लगभग 22 साल पहले कोलंबो में श्रीलंका को हराकर पहली बार अंडर-19 वर्ल्ड कप का खिताब जीता था।

 भारतीय टीम ने पहली बार 2000 में मोहम्मद कैफ की कप्तानी में, दूसरी बार 2008 में विराट कोहली की कप्तानी में, तीसरी बार 2012 में उन्मुक्त चंद की कप्तानी में और चौथी बार 2018 में पृथ्वी शॉ की कप्तानी में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीता है।

विराट कोहली

विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने 2008 में दक्षिण अफ्रीका को हराकर दूसरी बार अंडर-19 विश्व कप जीता था। उस फाइनल में भारत ने डकवर्थ लुइस नियम के तहत 12 रन से जीत हासिल की थी।  कप्तान कोहली उस मैच में केवल 19 रन बनाकर आउट हो गए थे।  उन्होंने शानदार कप्तानी से टीम को चैंपियन बनाया था।  कोहली के नाम 255 वनडे मैच है।

शिखर धवन

शिखर धवन 2004 में अंडर-19 वर्ल्ड कप का हिस्सा थे। यह टूर्नामेंट बांग्लादेश में खेला गया था और पाकिस्तान ने खिताब जीता था। सीनियर क्रिकेट में धवन ने टेस्ट डेब्यू पर सबसे तेज शतक बनाकर तहलका मचाया था। उन्होंने अब तक 34 टेस्ट मैचों मे 8 शतक जमाए हैं। वहीं, 148 वनडे में उनके नाम 17 शतक हैं।

पृथ्वी शॉ

पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत ने 2018 में अंडर-19 वर्ल्ड कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को पीटकर चौथी बार खिताब अपने नाम किया।भारत ने राहुल द्रविड़ की कोचिंग में खिताब पर कब्जा जमाया था। अंडर-19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन के बाद पृथ्वी ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया और उन्होंने पहली पारी में ही शतक भी जमा दिया।