Thursday , September 29 2022
Breaking News

उ0 प्र0 डिफेंस इण्डस्ट्रियल कारिडोर में निवेश लगातार बढ़ता हुआ!



उ0 प्र0 डिफेंस इण्डस्ट्रियल कारिडोर में निवेश को बढ़ाने के लिए यूपीडा ने भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) , पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी), के साथ एम.ओ.यू हस्ताक्षर किये..

यूपी डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में निवेशकों को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के रूप में बैंक वित्तीय सहायता प्रदान करेगा

Upeida ने IIT कानपुर रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी पार्क फाउंडेशनj (Technopark@iitk) के साथ एक एम.ओ.यू पर हस्ताक्षर किए हैं

डिफेंस सेक्टर की कंपनियां राज्य में अपनी प्रोडक्शन और मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स स्थापित करने की तैयारी कर रही है

लखनऊ : भारतीय रक्षा उद्योग तेजी से बदलाव के दौर से गुजर रहा है, जहां देश न केवल रक्षा बाजार के विस्तार पर ध्यान केंद्रित कर रहा है, बल्कि माननीय प्रधानमंत्री जी के विजन ‘मेक इन इंडिया’ योजना के तहत स्वदेशी विनिर्माण को मजबूत करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

जहां केंद्र और राज्यों द्वारा विभिन्न सकारात्मक पहल के कारण इस क्षेत्र में निजी भागीदारी में जबरदस्त वृद्धि देखी गई है, इन निजी उद्योगों को उनकी अनुसंधान एवं विकास आवश्यकताओं में सहायता करना और उनके संचालन को बनाए रखने के लिए वित्तीय सहायता हासिल करना भी महत्वपूर्ण है। जैसा कि देश हर क्षेत्र में आत्मनिर्भर होने के लिए तैयार है। यूपीडा भी इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अपने वर्तमान और भविष्य के निवेशकों की सहायता करने के साथ-साथ ‘मेक-इन-इंडिया’ विजन में योगदान देने के लिए सक्रिय उपाय कर रहा है।

इसी क्रम में यूपी डिफेंस कॉरिडोर में निवेशकों को अपने दिये जा रहे समर्थन के रूप में,Upeida ने अब देश के तीन प्रमुख राष्ट्रीयकृत बैंकों के साथ सहयोग किया है; भारतीय स्टेट बैंक (SBI), बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (SIDBI), भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा विनियमित और पर्यवेक्षण के चार अखिल भारतीय वित्तीय संस्थानों में से एक है। इनका उद्देश्य यूपी डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर में स्थापित होने के इच्छुक निवेशकों को ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के हिस्से के रूप में वित्तीय सहायता हासिल करने में सहायता करना है। बैंक इन निवेशकों को स्थापित करने में सहायता करने के लिए मामला-दर-मामला आधार पर अनुकूलित वित्तीय सहायता प्रदान करेंगे।

इसके अलावा, Upeida ने आज IIT कानपुर रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी पार्क फाउंडेशन (Technopark@iitk) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं ताकि घरेलू एयरोस्पेस और रक्षा पारिस्थितिकी तंत्र के साथ IIT कानपुर के सहयोग के लिए बढ़ती अनुसंधान एवं विकास आवश्यकताओं और अवसरों को संबोधित किया जा सके। डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के हिस्से के रूप में डिफेंस सेक्टर की कंपनियां राज्य में अपनी प्रोडक्शन और मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स स्थापित करने की तैयारी कर रही हैं, Technopark@iitk अपने परिसर में अपनी R&D यूनिट्स स्थापित करने और नवाचार और अनुसंधान के क्षेत्रों में उनका समर्थन करने के लिए कंपनियों तक पहुंच रहा है।

इस कार्यक्रम में श्री अवस्थी ने बताया कि यह कॉरिडोर के लिए एक और मील का पत्थर होगा और माननीय प्रधानमंत्री जी की आत्मानिर्भर भारत मिशन में योगदान करने की दिशा में एक और बड़ा कदम होगा। जैसे-जैसे निजी निवेशकों को राज्य द्वारा समर्थन और सहायता मिलती है, इस क्षेत्र में निजी भागीदारी में और भी अधिक वृद्धि होगी। यह रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में 2025 तक 25.00 बिलियन अमेरिकी डॉलर प्राप्त करने के भारत के लक्ष्य में अपना महत्वपूर्ण योगदान देगा।