Thursday , May 19 2022
Breaking News

बाराबंकी प्रशिद्ध महादेवा मेले को चालू कराने में जिला प्रशासन सुस्त महादेवा के क्षेत्रवासियों में भारी रोष*

*प्रशिद्ध महादेवा मेले को चालू कराने में जिला प्रशासन सुस्त महादेवा के क्षेत्रवासियों में भारी रोष*
*शुक्रवार से शिवभक्त कांवरियों का जत्था महादेवा आना शुरू होगा लेकिन महादेवा की तैयारियां सुस्त*
रामनगर(बाराबंकी)।जनपद के प्रसिद्ध लोधेश्वर धाम महादेवा में दस दिवसीय फाल्गुनी मेला होने को है परंतु स्थानीय प्रसाशन व जिला प्रशासन की तरफ से मेले में रुचि नही दिख रही है। महादेवा के पंडित अनिल तिवारी ने कहा पूर्व में महादेवा के मेले में 30 सफाईकर्मचारी होते थे लेकिन इस समय एक ही सफाईकर्मी है अगर 10 सफाईकर्मियों लगा दिया जाए तो सफ़ाई हो जाएगी,उन्होंने कहा प्रकाश की व्यवस्था होनी चाहिए रोड के दोनों तरफ और बाग में भी प्रकाश की व्यवस्था होनी चाहिए लोधेश्वर में कांवरिया 18 तारीख से आने लगेंगे लेकिन स्थानीय प्रशासन के द्वारा कोई भी व्यवस्था नहीं की गई, एक सफाईकर्मी के द्वारा साफ सफाई न के बराबर है।मेले में भोलेनाथ के भक्त गणों का आना शुरू हो गया है।शासन प्रशासन की तरफ से अभी कोई भी तैयारी नहीं की गई है।महादेवा के अभ्यारण (अभरन) तालाब में गंदा पानी है ट्यूबेल से स्वच्छ पानी तालाब में डालने की आवश्यकता है।शौचालय की व्यवस्था बदतर है इस सामुदायिक शौचालय में कोई भी कर्मचारी नियुक्त नहीं किया गया है।शासन प्रशासन की घोर लापरवाही उजागर हो रही है।पेयजल की व्यवस्था भी नाम मात्र की है।फिर भी भक्त लोधेश्वर धाम में दर्शन करने के लिए निकल पड़े हैं।पूरे देश में महाशिवरात्रि पर्व बड़ी श्रद्धापूर्वक भक्ति भाव से मनाया जाता है और लाखों भक्त प्रसिद्ध लोधेश्वर महादेवा दर्शन करने आते हैं।बताते चले बड़े-बड़े राजनेता भी जब बाराबंकी आते हैं तो रामनगर लोधेश्वर धाम के दर्शन करके ही जाते हैं।लेकिन महादेवा में साफ-सफाई की व्यवस्था उनको नहीं दिखती है।लोधेश्वर के दर्शन कर रवाना हो जाते हैं।प्रत्येक वर्ष महादेवा में जो दुकानदार आते हैं वह दुकान लगा रहे हैं।लेकिन प्रशासन ने अभी कोई किसी प्रकार की व्यवस्था नहीं की है थाना प्रभारी रामनगर द्वारा मेले की सुरक्षा व्यवस्था को देखा गया है।लेकिन जिला प्रशासन सुस्त नजर आ रहा है बीते दिनों में कई महीनों पहले भी जिला प्रशासन की सुस्ती से मेला बाधित हो चुका है जिसमे प्रकाश की व्यवस्था ठीक नही थी।प्रशिद्ध महादेवा में प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ दो बार दर्शन भी कर चुके हैं फिर भी लोधेश्वर धाम विकास की राह देख रहा है।और अभी जल्द ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह यूनियन इंटर कॉलेज के मैदान में विधायक शरद अवस्थी के सपोर्ट में चुनाव प्रचार करने आए रक्षा मंत्री ने जनसभा को संबोधित किया तो उन्होंने प्रसिद्ध लोधेश्वर धाम का नाम लेकर यूनियन इंटर कालेज के मैदान में जन सभा को संबोधित किया और कहां शरद अवस्थी तुम जब चुनाव जीतना तो मुझे एक बार यहां जरूर लाना यह तुम्हारी जिम्मेदारी है।आपको बता दे कोई भी बड़ा से बड़ा नेता आता है उसकी जुबान पर सबसे पहले महादेवा का नाम जरूर होता है लेकिन इसकी व्यवस्था को लेकर के क्यों शासन प्रशासन उदासीन रहता है।बड़ी दूर दूर से दर्शन करने लाखो शिव भक्त कांवड़ लेकर उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ ,फैजाबाद, रायबरेली, जालौन ,इटावा, उरई ,झांसी, कन्नौज ,बांदा ,सीतापुर बहराइच, घाटमपुर, कानपुर ,उन्नाव, जालौन ,संत कबीर नगर, आदि कई जनपदो से श्रद्धालु दर्शन करने लोधेश्वर महादेवा में शिवरात्रि को आते हैं।अब देखना यह होगा कि शासन प्रशासन मेले में क्या व्यवस्था करता है।देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ भारत अभियान चला रहे हैं। लेकिन रामनगर तहसील प्रशासन मोदी योगी की किरकिरी कराने पर उतारा है सीधे-सीधे स्वच्छ भारत अभियान की धज्जियां उड़ रही है।साथ ही महादेवा मेले की तैयारी फीकी नजर आ रही है।फूल माला बेचने वाले माली ने बताया मेला में सामुदायिक शौचालय में बड़ी गंदगी है कोई सफाई करने वाला कर्मचारी कई वर्षों से नही है और कहा आभरण तालाब के किनारे भी गंदगी है।कूड़े के ढेर हटाने का कार्य नही हो रहा है।महादेवा मेले में हैंडपंप व पेयजल की व्यवस्था सही नही है।