Friday , May 20 2022
Breaking News

आखिर क्या – कुछ हुआ , आज का इतिहास जानिए !

14 मई की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ –


फ्रांस में 1610 में हेनरी IV की हत्या और लुईस XIII फ्रांस की गद्दी पर बैठा।
नीदरलैंड और इंग्लैंड ने 1702 में स्पेन और फ्रांस के खिलाफ़ युद्ध की घोषणा की।
पराग्वे 1811 में स्पेन की पराधीनता से मुक्त हुआ।
थॉमस एडिसन 1879 में यूरोप की एडिसन टेलीफोन कंपनी से जुड़े
ब्रिटिश सैनिकों ने 1944 में कोहिमा पर कब्जा किया।
इजराइल ने 1948 में ब्रिटेन से स्वतंत्रता की घोषणा की।
कुवैत 1963 में संयुक्त राष्ट्र का 111 वां सदस्य बना।
अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने 1973 में सेना में महिलाओं के समान अधिकार को मंजूरी दी।
जापान ने 2007 में अपने शांतिवादी संविधान में संशोधन सम्बन्धी विधेयक को मंजूरी दी।
टाइम्स एनआईई ने 2008 में इंटरनेशनल न्यूजपेपर मार्केटिंग एसोसियेशन (इनमा) अवार्ड-2008 जीता।
भारत-रूस के बीच 2010 में रक्षा, परमाणु ऊर्जा, अंतरिक्ष, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, हाइड्रोकार्बन, व्यापार एवं निवेश आदि में 22 समझोते हुए।
इजरायल की जेलों में बंद 1500 फिलीस्तीनी कैदी 2012 में भूख हड़ताल समाप्त करने पर सहमत हुए।
ब्राजील 2013 में समलैंगिक विवाह को मान्यता देने वाला 15वां देश बना।


14 मई को जन्मे व्यक्ति –


शिवाजी के ज्येष्ठ पुत्र और उत्तराधिकारी संभाजी का 1657 को जन्म हुआ।
प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और राजनीतिक कार्यकर्ता अरुण चन्द्र गुहा का 1892 में जन्म हुआ।
प्रसिद्ध न्यायविद, अधिवक्ता और शिक्षाशास्त्री अल्लादि कृष्णास्वामी अय्यर का 1883 में जन्म हुआ।
क्रोएशिया के राष्ट्रपति फ़्रांजो टडमैन का 1922 में जन्म हुआ।
भारतीय फ़िल्मों के प्रसिद्ध निर्माता व निर्देशक मृणाल सेन का 1923 में जन्म हुआ।
भारतीय आविष्कारक और कंप्यूटर वैज्ञानिक प्रणव मिस्त्री का 1981 में जन्म हुआ।
फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग का 1984 में आज ही के दिन जन्म हुआ।


14 मई को हुए निधन –


भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष एन.जी.चन्दावरकर का निधन 1923 में हुआ।
अल्ला बख़्श का निधन 1943 में हुआ अंग्रेज़ी शासन के दौरान एक जमींदार, सरकारी ठेकेदार, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं राजनेता थे।
प्रख्यात विद्वान् तथा राजनीतिक नेता डॉक्टर रघुवीर का निधन 1963 में हुआ।
प्रसिद्ध नाटककार जगदीशचन्द्र माथुर का निधन 1978 में हुआ।
ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित मराठी कवि वृंदा करंदीकर का निधन 2010 में हुआ।
किसान नेता महेन्द्र सिंह टिकैत का निधन 2011 में हुआ।
तमिल विद्वान् एवं लेखक कंडासामी कुप्पुसामी का निधन 2016 मे हुआ।