Monday , October 3 2022
Breaking News

इटावा भरथना सेंट केवलानंद सीनियर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल में पुलवामा अटैक में शहीद हुए जवानों को याद किया गया  व प्रार्थना  सभा की गई।

भरथना

सेंट केवलानंद सीनियर सेकेंडरी पब्लिक स्कूल में पुलवामा अटैक में शहीद हुए जवानों को याद किया गया  व प्रार्थना  सभा की गई।

सोमवार को आयोजित प्रार्थना सभा मे विद्यालय प्रधानाचार्य प्रियंका सिंह ने बताया  14 फरवरी का दिन भारत के इतिहास में काला दिन माना जाता है. क्योंकि आज के ही दिन पुलवामा हमले में देश के 40 जांबाज शहीद हो गए थे.

विद्यालय प्रबंधक रोहन सिंह ने बताया  14 फरवरी 2019 को जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग से करीब 2500 जवानों को लेकर 78 बसों में सीआरपीएफ (CRPF) का काफिला गुजर रहा था. सड़क पर उस दिन भी सामान्य आवाजाही थी. सीआरपीएफ का काफिला पुलवामा पहुंचा ही था, तभी सड़क की दूसरे तरफ से आ रही एक कार ने सीआरपीएफ के काफिले के साथ चल रहे वाहन में टक्‍कर मार दी. जैसे ही सामने से आ रही एसयूवी जवानों के काफिले से टकराई, वैसे ही उसमें विस्‍फोट हो गया. इस घातक हमले में सीआरपीएफ के 40 बहादुर जवान शहीद हो गए.

इस अवसर पर विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिकाएं  मोहिनी शाक्य, रीना भंसाली, स्मृति राठोर, श्याम सुंदरी मिश्रा, प्रीती केसरवानी , वर्षा गुप्ता, मयंक पोरवाल, संदीप यादव, दिलिप यादव, रजनीश यादव आदि मौजूद रहे।

फ़ोटो