Saturday , June 15 2024
Breaking News

फर्जी प्रवेश पत्र के शक पर छात्रों को तलाशी के दौरान रोंका, डीआईओएस बोले पंजीकरण नही लेकर गए थे छात्र

Report By : Sanjay Sahu, Chitrakoot

चित्रकूट : यूपी बोर्ड की परीक्षा के पहले दिन एक सेंटर में उस वक्त अफरातफरी मच गई जब परीक्षार्थियों को फर्जी प्रवेशपत्र के नाम पर विद्यालय प्रबंधक ने गेट पर रोक दिया। हालांकि बाद में जिला विद्यालय निरीक्षक के हस्तक्षेप के बाद छात्र – छात्राओं को प्रवेश दे दिया गया और इन्होंने परीक्षा भी दी।
गौरतलब हो कि यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं आज से शुरू हैं। जिले में बोर्ड परीक्षा के लिए 44 केंद्र बनाए गए हैं, जहां कुल 26755 छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे। पहले दिन जिले के एक परीक्षा केंद्र राजापुर के खोपा गांव के श्री सिया इंटर कालेज में में तब अफरातफरी मच गई जब यहां पहली पाली में आठ बजे से हिंदी की परीक्षा देने आए सद्गुरु उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरद्वारा के छात्र-छात्राओं को विद्यालय प्रबंधक ने फर्जी प्रवेशपत्र के नाम पर गेट पर ही रोक दिया। इससे परीक्षार्थियों के होश उड़ गए। आननफानन में इसकी सूचना जिला विद्यालय निरीक्षक को दी गई। हालांकि बाद में मामले का निस्तारण हो गया और बच्चों को कालेज से प्रवेशपत्र देकर सभी को परीक्षा में बैठने की अनुमति दी गई।

इस संबंध में श्री सिया इंटर कालेज के प्रबंधक मनोज द्विवेदी ने बताया कि आनलाइन फर्जी प्रवेशपत्र निकाले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह अपने कालेज से सही प्रवेशपत्र दे रहे हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि इससे बच्चों को दिक्कत नहीं होने दी जाएगी और ओरिजनल एडमिट कार्ड देकर सभी को परीक्षा में बैठने दिया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि सद्गुरु उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बरद्वारा के बच्चे उनके यहां से रजिस्टर्ड हैं पर जो बच्चे परीक्षा देने आए हैं, उनको पहले नहीं देखा।

डीआईओएस बोले, हुई गलतफहमी

उधर, इस मामले में जिला विद्यालय निरीक्षक देवेंद्र स्वरूप ने बताया कि कुछ गलतफहमी की वजह से दिक्कत हुई थी। किसी तरह का बवाल नहीं हुआ। बताया कि परीक्षार्थी अपने साथ कक्षा नौ का पंजीकरण पत्र नहीं ले गए थे। ऐसे में उनको कह दिया गया है कि कल से परीक्षा देने के दौरान प्रवेशपत्र और पंजीकरण दोनों साथ लेकर आएं। बताया कि सभी पंजीकृत विद्यार्थियों को परीक्षा देने की अनुमति दे दी गई है।